शिशु का गर्भ में ज्यादा एक्टिव रहने का क्या कारण shishu Ka garbh me Jyada active rahne Ka Kya Karan

शिशु का गर्भ में ज्यादा एक्टिव रहने का क्या कारण

गर्भ में शिशु कितना एक्टिव रहता है यह सिर्फ एक माँ ही महसूस कर सकती है यह एक ऐसी अनुभूति है जो दुनिया के हर सुख से बड़ी है
यदि आपका शिशु गर्भ में ज्यादा एक्टिव है तो इसका अर्थ है कि शिशु गर्भ में एकदम स्वस्थ है
यदि आपका शिशु गर्भ में कम एक्टिव है तो इसमें चिंता की कोई बात नहीं है क्योकि हर शिशु अपने आप में अलग  होता है
शिशु के ज्यादा एक्टिव होने का भी कुछ समय होता है आपके खाना खाने के बाद या  आपके सोने के बाद
यदि आपके शिशु के सामान्य से कम baby kicks महसूस हो रहे है तो आपको तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए
Pregnancy के last महीने में baby kicks का विशेष ध्यान रखना चाहिए
आप अपने baby kicks को पूरी तरह enjoy करे क्योकि यह ऐसी अनुभूति है जो आपको स्पेशल होने का एहसास कराती है

shishu Ka garbh me Jyada active rahne Ka Kya Karan

garbh me shishu kitana ektaiv rahta hai Yah sirf ek man hi mahsus kar Sakti hai Yah ek aesi anubhuti hai jo Duniya ke har sukha se badi hai
Yadi aapKa shishu garbh me Jyada ektaiv hai to isKa arth hai ki shishu garbh me ekadm Swasth hai
Yadi aapKa shishu garbh me kam ektaiv hai to isamen chinta ki koi Baat nahin hai kyoki har shishu Apne aap me alag  Hota hai
shishu ke Jyada ektaiv hone Ka bhi kuch Samay Hota hai Aapke Khana Khane ke bad ya  Aapke sone ke bad
Yadi Aapke shishu ke samany se kam baby kicks mahsus ho rahe hai to Aapko turnt doctor se milana chahiey
Pregnancy ke last mahine me baby kicks Ka viShesh dhyan rkhana chahiey
aap Apne baby kicks ko puri tarh enjoy kare kyoki Yah aesi anubhuti hai jo Aapko speshal hone Ka ehasas karati hai

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *