शिशु जन्म के दौरान दर्द क्यों होता है shishu janm ke dauran dard kyon Hota hai

शिशु जन्म के दौरान दर्द क्यों होता है

शिशु का जन्म एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमे दर्द होना स्वाभाविक है परन्तु ये दर्द हर महिला के लिए अलग-अलग होता है किसी को कम और किसी को ज्यादा होता है किसी को यह दर्द सहन करने जितना होता है और किसी असहनीय होता है किसी-किसी को तो यह बहुत ज्यादा असहनीय भी होता है
इस दर्द के होने कारण है delivery के समय गर्भाशय की मांसपेशियों में संकुचन होता है जिस के कारण आपको दर्द होता है
यह दर्द सामान्य से लेकर असहनीय हो सकता है परन्तु इस दर्द की एक अच्छी बात ये है कि यह दर्द लगातार नहीं होता है यह दर्द कुछ मिनट या सेकंड्स के लिए रुक-रुक कर होता है जब दर्द रुकता है उस समय आपको थोडा-सा रिलेक्स मिल जाता है और आप दुबारा दर्द सहने के लिए खुद को तैयार कर सकती है
जब शिशु बाहर आने लिए संघर्ष करता है तब आपकी body पूरी ताकत से push करती है और इसी दौरान आपके vagina में दर्द होता है जब गर्भाशय का मुंह खुलना शुरू होता है तो इस दौरान दर्द ज्यादा महसूस होता है
जब cervix का मुंह 8-10 सेंटीमीटर खुल जाता है तो शिशु को बाहर आने के लिये पर्याप्त जगह मिल जाती है परन्तु शिशु खुद नहीं आ सकता है बाहर लाने के लिए आपको पूरी ताकत से उसे नीचे की ओर धकेलना होता है इस समय बिना घबराए अपनी पूरी ताकत से push करे और अपने बेबी को इस दुनिया में लाये

shishu janm ke dauran dard kyon Hota hai

shishu Ka janm ek aesi prakriya hai jisame dard Hona svabhavik hai parntu ye dard har mahila ke lea alag-alag Hota hai kisi ko kam aur kisi ko Jyada Hota hai kisi ko Yah dard sahn karne jitana Hota hai aur kisi ashoneyy Hota hai kisi-kisi ko to Yah bahut Jyada ashoneyy bhi Hota hai
is dard ke hone Karan hai delivery ke Samay garbhashay ki Maasapeshiyon me snkuchan Hota hai jis ke Karan Aapko dard Hota hai
Yah dard samany se lekar ashoneyy ho skata hai parntu is dard ki ek Acchi Baat ye hai ki Yah dard lagatar nahin Hota hai Yah dard kuch Minute ya Seconds ke lea ruk-ruk kar Hota hai jab dard rukata hai us Samay Aapko thodaa-sa rileks mil jata hai aur aap dubara dard sahne ke lea khud ko taiyar kar Sakti hai
jab shishu bahar aane lea sngharsha karta hai tab Aapki body puri takat se push karti hai aur isi dauran Aapke vagina me dard Hota hai jab garbhashay Ka munh khaulana shuru Hota hai to is dauran dard Jyada mahsus Hota hai
jab cervix Ka munh 8-10 sentimitar khaul jata hai to shishu ko bahar aane ke liye paryapt jgah mil jati hai parntu shishu khud nahin aa skata hai bahar lane ke lea Aapko puri takat se use niche ki or dhakelana Hota hai is Samay bina ghabrae Apni puri takat se push kare aur Apne bebi ko is Duniya me laye

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *