Pregnant महिला पर चंद्रग्रहण के क्या प्रभाव पड़ते है Pregnant mahila par chandragrahan ke Kya prabhav padate hai

Pregnant महिला पर चंद्रग्रहण के क्या प्रभाव पड़ते है

pregnant  महिलाये अपने आने वाले शिशु के प्रति बहुत चिंतित व जागरूक रहती है
प्राचीन ग्रंथो के अनुसार चंद्रग्रहण का प्रभाव 108 दिन तक रहता है
ग्रहण के समय गर्भवती महिलाओ को घर के बाहर नहीं आना चाहिए और ऊपर आसमान की तरफ बिलकुल नहीं देखना चाहिए
ऐसा माना जाता है कि ग्रहण का गर्भस्थ शिशु पर बहुत ज्यादा प्रभाव पड़ता है खासकर गर्भस्थ शिशु की आँखों पर ज्यादा प्रभाव पड़ता है यह प्रभाव इतना खतरनाक होता है कि बाद में इसका कोई इलाज नहीं हो पाता है इसलिए आप सावधान रहे
ऐसा माना जाता है कि जिस महिला के गर्भ पर ग्रहण का प्रभाव पड़ जाता है उसका जन्म लेने वाला बच्चा आँखों से डेरा होता है यह ना सोचे कि यह एक अंधविश्वास हैं, और यह बाते आपको डराती हैं अगर आप  9 महीने तक गर्भ में पल रहे बच्चे की रक्षा कर सकती है, तो दो-चार घंटे का ग्रहण कौन सी बड़ी बात है।
ग्रहण के दौरान आप सिलाई या कढ़ाई ना करे क्योकि इनमे आप सुई का प्रयोग करेंगी, तो डोरा डालते वक्त आंखों पर स्ट्रेस पड़ेगा जो ग्रहण समय ठीक नहीं है
ग्रहण के समय चाकू,केंची जैसी नुकीली और धारदार वस्तुए अपने पास ना रखे क्योकि ये आपके शिशु के स्वास्थ्य के लिए सही नहीं है
गर्भवती महिलाओ को ग्रहण के समय कुछ नहीं खाना चाहिए और घर में पके खाने में और पानी में तुलसी के पत्ते डाले इससे ग्रहण का असर कम हो जाता है
Pregnant महिला को ग्रहण पूरा होने के बाद स्नान करना चाहिए इससे आप पर ग्रहण प्रभाव कम होता है
यदि आप pregnant है तो ग्रहण से पहले सारे काम निपटाले और ग्रहण दौरान आराम करे

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *