pregnancy में प्रसव का दर्द समय पर ना आये तो क्या करे pregnancy me prasav Ka dard Samay par na aaye to Kya kare

pregnancy में प्रसव का दर्द समय पर ना आये तो क्या करे

प्रसव का दर्द समय पर नहीं आने पर भी यदि शिशु अन्दर सुरक्षित है तो जबरदस्ती labor pain लाने की कोशिश ना करे labor pain आने का कुछ समय और इंतजार करे
यदि शिशु को प्लेसेंटा के द्वारा पोषक तत्व और ऑक्सीजन नहीं मिल पा रहे है तो इस अवस्था में labor pain को प्रेरित करने की आवश्यकता है क्योकि ऐसी स्थिति में शिशु को खतरा हो सकता है
प्रसव का दर्द आने से पहले यदि आपका water break हो जाये तो labor pain को प्रेरित करने की आवश्यकता होती है क्योकि water break होने के बाद शिशु की जान को खतरा होता है
pregnancy time 42 हफ्तों का होने के बाद भी यदि प्रसव पीड़ा शुरू नहीं हो तो labor pain को induce करने के अलावा कोई और option नहीं रहता है

pregnancy me prasav Ka dard Samay par na aaye to Kya kare

prasav Ka dard Samay par nahin aane par bhi Yadi shishu andar surakshait hai to jabrdasti labor pain lane ki Try na kare labor pain aane Ka kuch Samay aur intajar kare
Yadi shishu ko plesenta ke Dwara poshak tatv aur oxigen nahin mil paa rahe hai to is avastha me labor pain ko prerit karne ki aavashykata hai kyoki aesi sthiti me shishu ko khatra ho skata hai
prasav Ka dard aane se Pehle Yadi aapKa water break ho jaye to labor pain ko prerit karne ki aavashykata hoti hai kyoki water break hone ke bad shishu ki jan ko khatra Hota hai
pregnancy time 42 hafton Ka hone ke bad bhi Yadi prasav pida shuru nahin ho to labor pain ko induce karne ke alava koi aur option nahin rahta hai

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *