pregnancy ke dauran tanav kam karne ke 10 upaay प्रेगनेंसी के दौरान तनाव कम करने के 10 उपाय

प्रेगनेंसी के दौरान तनाव कम करने के 10 उपाय

pregnancy tips
pregnancy tips

गर्भावस्था के दौरान तनाव में रहना क्या शिशु  के लिए नुकसानदायक है
यदि आप माँ बनने जा रही है तो आपके सामने अनेक समस्याएं पैदा हो जाती है  ज्यादा तो आप इस समस्या से तनाव में रहती है  कि आपका शरीर आपको  बदला सा लगता है इसके आलावा प्रेगनेंसी के दौरान थकान बहुत ज्यादा होती है ,जिससे घरेलु या ओफ्फिस वर्क में तालमेल नहीं बिठा पाती है जिससे तनाव ज्यादा बढ़ जाता है और ज्यादा तनाव के कारण आपको भूख नहीं लगती,भूख नहीं लगने से आपके शरीर में प्रोटीन्स ,विटामिन्स ,कैल्शियम और अन्य हार्मोन की कमी होने लगती है जो आपके और शिशु के लिए खतरनाक साबित हो सकता है।  परन्तु अक्सर ऐसा भी होता है कि  बहुत से कठोर मामले आपके शिशु को कुछ सिखाने और समायोजन की क्षमता के विकास में भूमिका निभाते है ,लेकिन अधिक तनाव आपके शिशु के लिए घातक हो सकता है।
आइये जाने तनाव को दूर करने के उपायों के बारे में –
1.किसी भी बात पर ज्यादा विचार नही करे
प्रेगनेंसी के दौरान यदि आप किसी बात पर अधिक विचार करती है तो वो आपके और शिशु के स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं आप गर्भवती है और इस दौरान आप किसी तथ्य को लेकर तनाव में है तो वो आपके लिए नुकसानदायक है ,क्योकि किसी भी बात पर विचार करने से दो पहलु सामने आते है सकारात्मक और  नकारात्मक l मनोवैज्ञानिकों का मानना है कि नकारात्मकता शरीर को बहुत तेजी से प्रभावित करती है जिससे आप ज्यादा डिप्रेसन में आ सकती है l डिप्रेशन में आना मतलब ब्लड प्रेसर का हाई होना ,जो शिशु के लिए बहुत बड़ा खतरा है इससे शिशु का शारीरिक और मानसिक विकास दोनों प्रभावित होते है इसलिए आप किसी भी बात को या किसी भी विषय पर गंभीर चिंतन ना करे और यदि आप किसी बात से परेशान है तो आप घर के किसी शांत स्थान पर बैठकर कुछ समय मेडिटेशन करे धीरे धीरे गहरी लम्बी सांसे ले जिससे आप प्रोपेर्ली रिलेक्स महसूस करेंगी।
2. समय समय पर आराम करे आप  गर्भवती है और ऐसी स्थिति  में आप काम काज में अधिक  व्यस्त है तो आपके और शिशु के  लिए हानिकारक है क्योकि आप अपनी कैपेसिटी से ज्यादा काम करती है तो आप के शरीर में पर्याप्त ऊर्जा नही रहती, जिस से घुटनो में दर्द होना ,पैरो में सूजन होना ,अधिक थकान  होना जैसी प्रॉब्लम क्रिएट हो जाती है l जो आपके और शिशु के स्वस्थ्य पर गंभीर प्रभाव डालती है इस लिए गर्भावस्था के दौरान आराम करना आपके और आपके शिशु दोनों के लिए लाभदायक है l गर्भवती महिला को समय समय पर आराम की आवस्यकता  होती है जिस से आप तनाव मुक्त रहेगी l
3. आहार और पोषण पर ध्यान देना
गर्भावस्था के दौरान आपको पौष्टिक आहार पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए। आप अपनी पसंदीदा आहार ही लेवे। पौष्टिक आहार लेने से तनाव नहीं रहता है और शिशु properly healthy रहता है गर्भवती को आयरन, विटामिन B से युक्त आहार जरुर लेना चाहिए l  जैसे पालक ,हरी मैथी ,कढ़ी पत्ते ,साबुत अनाज और दही आदि आपके शरीर में तनाव रोधक हार्मोन सिरोटोनिन की मात्रा को बढ़ाते है इसके आलावा ओमेगा 3 फैट्टी एसिड का सेवन को कम करने में सहायक है और सबसे जरुरी बात खूब पानी पिये
4. गर्भावस्था मे योगा करे 
गर्भावस्था के दौरान योग आपके तनाव को दुर करने में सहायक है l मानसिक और शारीरिक रूप से आपको healthy रखता है जिसे शिशु भी हेअल्थी रहता है और शिशु का विकास भी अच्छी तरह से होता है l योग आपके शरीर को मजबूत बनाता है गर्भावस्था में व्यायाम करने से प्रसव पीड़ा भी आसान होती है  यदि आप गर्भावस्था के पहले से व्यायाम करती  है तो उसे जारी रखे। क्योकि गर्भावस्था में व्यायाम करना बहुत जरुरी है ,यदि आपको व्यायाम करने में कोई तकलीफ हो तो आप डॉक्टर से सलाह जरुर ले और यदि आप व्यायाम कक्षा जा रही है तो अपने प्रशिक्षक से भी गर्भवती होने के बारे में जरुर बताये
5.मसाज करवाये
प्रेगनेंसी के दौरानचम्पी करवाना ,मसाज करवाना तनाव को दूर  करने में  सहायक है यदि आप सुंगधित तेलों का इस्तेमाल करती है इसके आलावा सकारात्मक विचार सुने और अच्छे संकल्प ले
6. रिस्तो को पूरा समय दे
यह बात सही है की बच्चे के आने पति का रिश्ता प्रभावित होता है क्योकि आपकी जिम्मेदारियां बढ़ जाती है गर्भावस्था के दौरान आप ज्यादा से ज्यादा समय अपने पति के साथ बिताने की कोशिश करे और आने बच्चे के बारे चर्चा करे क्योकि बच्चे के आने के बाद आप अपने पति के साथ समय नहीं बिता पायेगी आप अपने डर और चिन्ताओ के बारे में पति जरुर बताये जिससे आप अपने आपको रिलेक्स महसूस करेगी
7. हमेशा प्रसन्न रहे और अपना ख्याल रखे
जितना जरूरी शरीर के लिए पानी है उतना हि तनावों को दूर करने के लिए हंसना जरूरी है। हंसी हमारे शरीर को उत्साहित रखती है इसलिए अपने दोस्तों ,करीबियों से मिलते रहना चाहिए ,ताकि आप तनावमुक्त रहे अपने लिए शौपिंग करे, पार्लर जाये, अपनी पसंद का खाना खाये और वे कार्य करे जिनसे आपको ख़ुशी मिलती है
8. रोज के कार्य का टाइम टेबल तैयार करे
गर्भावस्था में वीकनेस ज्यादा रहती है जिससे आप ज्यादा समय बैठी रह सकती है जिससे ना तो आपका काम समय पर हो पायेगा और ज्यादा बैठे रहने वजन भी ज्यादा बढ़ जायेगा जिससे आपका तनाव बढ़ जायेगा जो आपके शिशु के लिए ठीक नहीं इसलिए आप अपने काम का टाइम टेबल तैयार करे जिससे समय पर काम कर पायेगी
9. वित्तीय  योजनाए  बनाना
नॉर्मली ऐसा तो होता ही है की घर में नया मेहमान आने वाला है तो खर्चे  तो होंगे ही।ऐसे में आप चिंता न करे जिन चीजों की आवश्यकता होती है उनकी सूची तैयार करे फिर अपने बजट अनुरूप खरीदारी करे जिससे आपको खर्चे को एडजस्ट करने में हेल्प मिलेगी और आप तनाव में भी नहीं रहेंगी।
 10. प्रसव के लिए तयारी करना
आपको इस बात का तनाव हो सकता है की आप प्रसव पीड़ा को कैसे सहन कर पायेगी। तो आप अधिक चिंता न करे प्रसव के बारे में अपनी बड़ी बहिन, भाभी या किसी फ्रेंड्स से जानकारी ले कि प्रसव का दर्द कैसा होता है और इस समय आपको किस प्रकार अपने आपको संभालना है इसके बारे में जानकारी से आपका आत्मविश्वास बढेगा और डर कम होगा इसके आलावा तनाव से उभरने के  लिए आप अपने आने वाले बेबी के लिए भी कुछ बना सकती है ,जैसे- गददी, नेपकिन आदि
सही जानकारी नहीं मिल पाने के कारण कई महिलाये प्रसव पीड़ा के डर से सिजेरियन ऑपरेशन करवाना पसंद करती है यदि आपके साथ भी ऐसा हो रहा है तो इसके बारे में आप भी  डॉक्टर से सलाह जरुर ले।

pregnancy ke dauran tanav kam karne ke 10 upaay

garbhavastha ke dauran tanav me rahna Kya shishu ke lea nukasanadayak hai
Yadi aap man Banne ja rahi hai to Aapke samane anek Problems paida ho jati hai Jyada to aap is Problem se tanav me rahti hai ki aapKa sharir Aapko bdala sa lgata hai Iske aalava preganensi ke dauran thKan bahut Jyada hoti hai ,Jisse gharelu ya offis vark me talamel nahin bithaa paati hai Jisse tanav Jyada bdh jata hai aur Jyada tanav ke Karan Aapko bhukha nahin lgati,bhukha nahin lgane se Aapke sharir me proteins ,vitamins ,Calcium aur any harmon ki kami hone lgati hai jo Aapke aur shishu ke lea khatranak sabit ho skata hai. parntu Aksar Aesa bhi Hota hai ki bahut se kathor mamale Aapke shishu ko kuch siKhane aur samayojan ki kshamata ke viKas me bhumiKa nibhate hai ,lekin adhik tanav Aapke shishu ke lea ghatak ho skata hai.
aaiye jane tanav ko dur karne ke upaayon ke bare me –
1.kisi bhi Baat par Jyada vichar nahi kare
preganensi ke dauran Yadi aap kisi Baat par adhik vichar karti hai to vo Aapke aur shishu ke svasthy ke lea thik nahin aap garbhavti hai aur is dauran aap kisi tathy ko lekar tanav me hai to vo Aapke lea nukasanadayak hai ,kyoki kisi bhi Baat par vichar karne se do pahlu samane aate hai sKaratmak aur nKaratmak l manovaigyanikon Ka manada hai ki nKaratmkata sharir ko bahut teji se prabhavit karti hai Jisse aap Jyada diPressn me aa Sakti hai l dipreshan me aana Matlab blad Pressr Ka hai Hona ,jo shishu ke lea bahut bada khatra hai Isse shishu Ka sharirik aur manasik viKas dono prabhavit hote hai islea aap kisi bhi Baat ko ya kisi bhi vishay par serious chintan na kare aur Yadi aap kisi Baat se Pareshan hai to aap ghar ke kisi shant sthan par baithkar kuch Samay meditaeshan kare dhire dhire gahri lambi sanse le Jisse aap properli rileks mahsus karengi.
2. Samay Samay par Aaram kare aap garbhavti hai aur aesi sthiti me aap Kam Kaj me adhik vyast hai to Aapke aur shishu ke lea haniKarak hai kyoki aap Apni kaipesiti se Jyada Kam karti hai to aap ke sharir me paryapt urja nahi rahti, jis se Ghutano me dard Hona ,pairo me sujan Hona ,adhik thKan Hona jaisi Problem krieta ho jati hai l jo Aapke aur shishu ke Swasthy par serious prabhav daalati hai is lea garbhavastha ke dauran Aaram Karna Aapke aur Aapke shishu dono ke lea labhadayak hai l garbhavti mahila ko Samay Samay par Aaram ki aavasykata hoti hai jis se aap tanav mukt rahegi l
3. aahar aur poshan par dhyan dena
garbhavastha ke dauran Aapko Nutritious aahar par Jyada dhyan dena chahiey. aap Apni pasndida aahar hi leve. Nutritious aahar lene se tanav nahin rahta hai aur shishu properly healthy rahta hai garbhavti ko aayarn, vitamin B se yukt aahar jarur lena chahiey l jaise paalak ,hari maithi ,Kadhi patte ,sabut anaj aur dahi aadi Aapke sharir me tanav rodhak harmon sirotaonin ki matra ko bdhaate hai Iske aalava omega 3 faitati Sid Ka Seven ko kam karne me sahayak hai aur Sabse jaruri Baat khaub paani piye
4. garbhavastha me yoga kare
garbhavastha ke dauran yog Aapke tanav ko dur karne me sahayak hai l manasik aur sharirik rup se Aapko healthy rkhata hai jise shishu bhi healthi rahta hai aur shishu Ka viKas bhi Acchi tarh se Hota hai l yog Aapke sharir ko mjabut banata hai garbhavastha me vyayam karne se prasv pida bhi aasan hoti hai Yadi aap garbhavastha ke Pehle se vyayam karti hai to use jari rakhe. kyoki garbhavastha me vyayam Karna bahut jaruri hai ,Yadi Aapko vyayam karne me koi tkalif ho to aap doctor se salah jarur le aur Yadi aap vyayam kaksha ja rahi hai to Apne prashikshak se bhi garbhavti hone ke bare me jarur bataye
5.masaj karvaye
pregnancy ke dauranchampi karvana ,masaj karvana tanav ko dur karne me sahayak hai Yadi aap sungadhit Oilon Ka istemal karti hai Iske aalava sKaratmak vichar sune aur Acche Sanklap le
6. risto ko pura Samay de
Yah Baat sahi hai ki bachhche ke aane Pati Ka rishta prabhavit Hota hai kyoki Aapki jimmedariyan bdh jati hai garbhavastha ke dauran aap Jyada se Jyada Samay Apne Pati ke Saath bitane ki Try kare aur aane bachhche ke bare charcha kare kyoki bachhche ke aane ke bad aap Apne Pati ke Saath Samay nahin bita paayegi aap Apne dar aur chintao ke bare me Pati jarur bataye Jisse aap Apne Aapko rileks mahsus karegi
7. Humesha prasnn rahe aur Apna khayal rakhe
jitana jaruri sharir ke lea paani hai utana hi tanavon ko dur karne ke lea hnsana jaruri hai. Hansi Humare sharir ko utsahit rkhati hai islea Apne doston ,karibiyon se Milte rahna chahiey ,taki aap tanavamukt rahe Apne lea shauping kare, Parlour jaye, Apni pasnd Ka Khana khaye aur ve Kary kare jinase Aapko khushi milati hai
8. Everyday ke Kary Ka time Tabletaiyar kare
garbhavastha me vikanes Jyada rahti hai Jisse aap Jyada Samay baithi rah Sakti hai Jisse na to aapKa Kam Samay par ho paayega aur Jyada baithe rahne wajan (Weight) bhi Jyada bdh jayega Jisse aapKa tanav bdh jayega jo Aapke shishu ke lea thik nahin islea aap Apne Kam Ka time Tabletaiyar kare Jisse Samay par Kam kar paayegi
9. vittiy yojanae banana
normali Aesa to Hota hi hai ki ghar me naya meHuman aane vala hai to kharche to honge hi.aese me aap chinta n kare jin chijon ki aavashykata hoti hai unaki suchi taiyar kare Phir Apne bjat anurup kharidari kare Jisse Aapko kharche ko Adjasta karne me help milegi aur aap tanav me bhi nahin rahengi.
10. prasv ke lea tayari Karna
Aapko is Baat Ka tanav ho skata hai ki aap prasv pida ko kaise sahn kar paayegi. to aap adhik chinta n kare prasv ke bare me Apni badi bahin, bhabhi ya kisi Friends se janKari le ki prasv Ka dard kaisa Hota hai aur is Samay Aapko kis prKar Apne Aapko snbhalana hai Iske bare me janKari se aapKa aatmavishvas badhega aur dar kam Hoga Iske aalava tanav se ubharne ke lea aap Apne aane vale bebi ke lea bhi kuch bana Sakti hai ,jaise- gaddi, nepakin aadi
sahi janKari nahin mil paane ke Karan kai mahilaye prasv pida ke dar se sijeriyan oPareshn karvana pasnd karti hai Yadi Aapke Saath bhi Aesa ho raha hai to Iske bare me aap bhi doctor se salah jarur le.
 
 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *