Pregnancy के दौरान कौन-कौन से टेस्ट करवाने चाहिए Pregnancy ke dauran kaun-kaun se Test karvane chahiey

Pregnancy के दौरान कौन-कौन से टेस्ट करवाने चाहिए

Pregnancy के दौरान अल्ट्रासाउंड जरुर करवाना चाहिए इससे शिशु की हार्टबीट चेक कर सकते है अल्ट्रासाउंड से पेट में जुड़वाँ baby होने का और अपरा व शिशु की स्थिति का पता लगा सकते है गर्भावस्था में तीन बार अल्ट्रासाउंड जरुर करवाये इससे शिशु का किस समय कितना विकास हुआ है इसका पता चलता है
Pregnancy के दौरान ब्लड टेस्ट जरुर करवाना चाहिए ब्लड टेस्ट से हीमोग्लोबिन की कमी पता लगा सकते है और इसे बढ़ाने के लिए उचित आहार और दवाइयाँ ले सकते है क्योकि pregnancy में हीमोग्लोबिन की कमी होने पर माँ और शिशु दोनों का स्वास्थ्य प्रभावित होता है
Pregnancy में यूरिन टेस्ट जरुर करवाये यूरिन टेस्ट से शरीर में किसी प्रकार के इन्फेक्शन और बीमारी होने का पता चल जाता है जो pregnancy में बहुत जरुरी है क्योकि pregnancy के समय आपके शरीर की प्रॉब्लम का सीधा असर शिशु पर पड़ता है जिससे शिशु कमजोर हो सकता है और इससे गर्भपात का भी खतरा रहता है
Pregnancy में रक्तचाप (ब्लड प्रेशर) check करवाते रहना चाहिए pregnancy में ब्लड प्रेशर को नॉर्मल रखना अति आवश्यक है pregnancy में 5 वे महीने में एक बार ब्लडप्रेशर का स्तर कम होता है इसलिए ध्यान रखे ब्लड प्रेशर कम या ज्यादा होने पर गर्भपात का खतरा रहता है
Pregnancy में स्क्रीनिंग टेस्ट करवाना चाहिए इस टेस्ट से शिशु के डाउन सिंड्रोम होने का पता चलता है डाउन सिंड्रोम का अर्थ है शिशु मानसिक और शारीरिक रूप से कमजोर होना सामान्य शिशु में 46 गुणसूत्र होते है पर डाउन सिंड्रोम baby में 47 गुणसूत्र होते है ये एक गुणसूत्र शरीर के सभी अंगो प्रभावित करता है जिससे बच्चा मंदबुद्धि रहता है 35 वर्ष से अधिक की गर्भवती महिलाओ को ये टेस्ट जरुर करवाना चाहिए क्योकि ज्यादा उम्र में माँ बनने पर शिशु में डाउन सिंड्रोम होने के ज्यादा चांस रहते है
Pregnancy में HIV टेस्ट जरुर करवाये क्योकि यदि माँ HIV की शिकार है तो ये माँ से शिशु में पहुँचता है टेस्ट से पता लगा कर अच्छे उपचार से आप अपने शिशु को HIV से बचा सकते है

Pregnancy ke dauran kaun-kaun se Test karvane chahiey

Pregnancy ke dauran ultrasound  jarur karvana chahiey Isse shishu ki hartabita chek kar sakte hai ultrasound  se Pet me judavan baby hone Ka aur upra v shishu ki sthiti Ka pata laga sakte hai garbhavastha me tin bar altarasaund jarur karvaye Isse shishu Ka kis Samay kitana viKas huaa hai isKa pata chalta hai
Pregnancy ke dauran blood Test jarur karvana chahiey blad Test se himoglobin ki kami pata laga sakte hai aur ise bdhaane ke lea uchit aahar aur davaiya le sakte hai kyoki pregnancy me himoglobin ki kami hone par man aur shishu dono Ka svasthy prabhavit Hota hai
Pregnancy me urine Test jarur karvaye Yourin Test se sharir me kisi prKar ke infekshan aur bimari hone Ka pata chal jata hai jo pregnancy me bahut jaruri hai kyoki pregnancy ke Samay Aapke sharir ki Problem Ka sidha Asar shishu par pdata hai Jisse shishu kamjor ho skata hai aur Isse Garbhpat Ka bhi khatra rahta hai
Pregnancy me raktachhap (blood pressure) check karvate rahna chahiey pregnancy me blood pressure ko normal rkhana ati aavashyak hai pregnancy me 5 ve mahine me ek bar blood pressure Ka star kam Hota hai islea dhyan rakhe blood pressure kam ya Jyada hone par Garbhpat Ka khatra rahta hai
Pregnancy me Screening Test karvana chahiey is Test se shishu ke daaun sindrom hone Ka pata chalta hai daaun sindrom Ka arth hai shishu manasik aur sharirik rup se kamjor Hona samany shishu me 46 gunasutr hote hai par daaun sindrom baby me 47 gunasutr hote hai ye ek gunasutr sharir ke sabhi ango prabhavit karta hai Jisse Baccha mndabuddhi rahta hai 35 varsha se adhik ki garbhavti mahilao ko ye Test jarur karvana chahiey kyoki Jyada umr me man Banne par shishu me daaun sindrom hone ke Jyada chans rahte hai
Pregnancy me HIV Test jarur karvaye kyoki Yadi man HIV ki shiKar hai to ye man se shishu me pahunchata hai Test se pata laga kar Acche treatment se aap Apne shishu ko HIV se bachha sakte hai

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *