pregnancy के दौरान इन लक्षणों को अनदेखा नहीं करना चाहिए pregnancy ke dauran in lakshano ko anadekha nahin Karna chahiey

pregnancy के दौरान इन लक्षणों को अनदेखा नहीं करना चाहिए:-

1. हाथों, पैरों, आंखों या चेहरे पर सूजन होना

गर्भावस्था के दौरान हाथों, पैरों, आंखों या चेहरे पर सूजन होना सामान्य माना जाता है इसमें कोई चिंता की बात नहीं है परन्तु यदि सूजन अचानक काफी ज्यादा बढ़ जाये तो यह चिंता का कारण है आपको तुरंत डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए

2. बुखार होना

अगर आपके शरीर का तापमान100 degres से अधिक है और यदि सर्दी और फ्लू के कोई लक्षण नहीं हैं, तो आपको डॉक्टर को उसी दिन दिखाना चाहिए शरीर का ज्यादा तापमान आपके शिशु के लिए नुकसानदायिक हो सकता है

3. पेट के मध्य या ऊपरी हिस्से में दर्द होना :-

पेट के मध्य या ऊपरी हिस्से में दर्द होने का कारण है पेट में गंभीर अपच, पेट में अम्लता या जलन होना , पेट में संक्रमण (उल्टी- दस्त), दूषित या विषाक्त भोजन खाने से पेट के संक्रमण का होना

यदि यह दर्द गर्भावस्था का आधा चरण पार करने के बाद हो रहा है, तो यह प्रीक्लेम्पसिया की निशानी हो सकती है यह एक गंभीर स्थिति है,यह ब्लड प्रेशर अधिक होने से होती है जिस पर तुरंत ध्यान देने की जरुरत है

4. पेट के निचले हिस्से में दर्द का होना

पेट के एक तरफ दर्द होने पर या फिर दोनों तरफ निचले हिस्से में तेज दर्द होने पर डॉक्टर को दिखाकर पता कर लेना ठीक रहेगा कि कोई गंभीर समस्या तो नहीं है वरना आपके सामने इस प्रकार की समस्याएं आ सकती है:- गर्भपात, समय से पहले प्रसव आदि

5. गर्भावस्था के दौरान अचानक आपको ज्यादा प्यास लगना निर्जलीकरण की निशानी हो सकती है इस लिए आप डॉक्टर से जरुर सलाह ले

6. गर्भावस्था के दौरान पेशाब करते समय जलन या दर्द होना

7. अधिक उल्टीया होना

अगर आपको दिन में दो या तीन बार से अधिक उल्टी कर रही हैं, तो आपको कमजोरी महसूस हो सकती है

8. बार -बार बेहोशी या चक्कर आना

9. पेट में शिशु की हलचल कम होना

यदि 21 सप्ताह के बाद आपको बच्चे की हलचल 24 घंटे से अधिक समय तक महसूस न हो या कम महसूस हो, तो हो सकता है बच्चे को किसी प्रकार की परेशानी हो इसलिए आप डॉक्टर से सलाह जरुर ले

10. पूरे शरीर में बहुत ज्यादा खुजली होना

11. पेट के बल गिरना या फिर चोट लगना

12. आपको अपनी सेहत में ठीक-ठाक नहीं लगना

13. योनि से रक्त-स्त्राव होना

14. लगातार तेज सिरदर्द होना

pregnancy ke dauran in lakshanon ko anadekha nahin Karna chahiey:-

1. hathon, pairon, aankhaon ya Face par sujan Hona

garbhavastha ke dauran hathon, pairon, aankhaon ya Face par sujan Hona samany mana jata hai isamen koi chinta ki Baat nahin hai parntu Yadi sujan achanak Kafi Jyada bdh jaye to Yah chinta Ka Karan hai Aapko turnt doctor ki salah leni chahiey
2. bukhar Hona
agar Aapke sharir Ka Temperature100 degres se adhik hai aur Yadi Sirdi aur flu ke koi lakshan nahin hain, to Aapko doctor ko usi din diKhana chahiey sharir Ka Jyada Temperature Aapke shishu ke lea nukasanadayik ho skata hai
3. Pet ke madhy ya upari hisse me dard Hona :-
Pet ke madhy ya upari hisse me dard hone Ka Karan hai Pet me serious upch, Pet me amlata ya jaln Hona , Pet me snkramn (ulti- dast), dushait ya vishakt bhojan Khane se Pet ke snkramn Ka Hona
Yadi Yah dard garbhavastha Ka aadha charn paar karne ke bad ho raha hai, to Yah priklempasiya ki nishani ho Sakti hai Yah ek serious sthiti hai,Yah blad preshar adhik hone se hoti hai jis par turnt dhyan dene ki jarurat hai
4. Pet ke nichale hisse me dard Ka Hona
Pet ke ek tarf dard hone par ya Phir dono tarf nichale hisse me tej dard hone par doctor ko dikhakar pata kar lena thik rahega ki koi serious Problem to nahin hai vrana Aapke samane is prKar ki Problems aa Sakti hai:- Garbhpat, Samay se Pehle prasv aadi
5. garbhavastha ke dauran achanak Aapko Jyada pyas lgana nirjaliKaran ki nishani ho Sakti hai is lea aap doctor se jarur salah le
6. garbhavastha ke dauran peshab karte Samay jaln ya dard Hona
7. adhik ultiya Hona
agar Aapko din me do ya tin bar se adhik ulti kar rahi hain, to Aapko kamjori mahsus ho Sakti hai
8. bar -bar behoshi ya chakkar aana
9. Pet me shishu ki halchal kam Hona
Yadi 21 saptah ke bad Aapko bachhche ki halchal 24 Hour se adhik Samay tak mahsus n ho ya kam mahsus ho, to ho skata hai bachhche ko kisi prKar ki Pareshani ho islea aap doctor se salah jarur le
10. pure sharir me bahut Jyada khaujali Hona
11. Pet ke bal girana ya Phir chota lgana
12. Aapko Apni sehat me thik-thaak nahin lgana
13. yoni se rakt-strav Hona
14. lagatar tej sirdard Hona

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *