प्रेगनेंसी के दौरान अपनी देखभाल कैसे करे pregnancy ke dauran apani dekhabhal kaise kare

प्रेगनेंसी के दौरान अपनी देखभाल कैसे करे

प्रेगनेंसी दौरान pregnant महिला को ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए दिन में कम से कम 4 लीटर पानी जरुर पिए पानी पीने से शरीर से विषैले पदार्थ यूरिन के साथ बाहर आते है और शरीर स्वस्थ बनता है

प्रेगनेंसी के दौरान शरीर को कैल्सियम की बहुत आवश्यकता होती है कैल्सियम दूध में पाया जाता है इसलिए pregnant महिला को रोजाना कम से कम एक गिलास दूध जरुर पीना चाहिए

प्रेगनेंसी के दौरान महिला को omega 3 fatty acid और फोलिक एसिड का सेवन करना चाहिए इनके सेवन से शिशु का मानसिक विकास होता है और यह शिशु की आँखों और तंत्रिका तंत्र के विकास के लिए भी आवश्यक होता है

प्रेगनेंसी के दौरान pregnant महिला को आयरन की बहुत आवश्यकता होती है इसलिए pregnant महिला प्रतिदिन आयरन का सेवन करना चाहिए आयरन के सेवन से शरीर में हीमोग्लोबिन का निर्माण होता है हीमोग्लोबिन शरीर के अंगो में ओक्सीजन पहुँचाने का कार्य करता है सामान्य महिला से pregnant महिला को दुगुने आयरन की आवश्यकता होती है आयरन की कमी से एनीमिया हो सकता है और एनीमिया होने से समय से पहले डिलीवरी और कम वजन का शिशु होने की संभावना रहती है इसलिए आयरन का भरपूर सेवन करना चाहिए

pregnant महिला को सामान्य महिला से 400 – 500 अधिक कैलोरी की आवश्यकता होती है pregnant महिला को एक साथ ज्यादा खाना नहीं खाना चाहिए बल्कि 2-3 घंटे से थोडा-थोडा करके खाना चाहिए

प्रेगनेंसी के दौरान बिना डॉक्टर की सलाह के कोई भी दवा नहीं लेनी चाहिए क्योकि ये दवाइयाँ शिशु के लिए खतरा बन सकती है

प्रेगनेंसी के दौरान कच्चा मांस ,कच्चे अंडे और चटपटे मसालो का सेवन ना करे

प्रेगनेंसी के दौरान महिला को धूम्रपान और शराब का सेवन नहीं करना चाहिए इनका सेवन शिशु के स्वास्थ्य पर प्रभाव डालता है

प्रेगनेंसी के दौरान महिला को तनाव मुप्त रहना चाहिए कई बार तो तनाव गर्भपात का कारण भी बन सकता है

pregnancy ke dauran Apni dekhabhal kaise kare

pregnancy dauran pregnant mahila ko Jyada se Jyada paani pina chahiey din me kam se kam 4 Liter paani jarur pie paani pine se sharir se vishaaile padarth Yourin ke Saath bahar aate hai aur sharir Swasth bnata hai

pregnancy ke dauran sharir ko kailsiyam ki bahut aavashykata hoti hai kailsiyam dudh me paaya jata hai islea pregnant mahila ko Everyday kam se kam ek glass dudh jarur pina chahiey

pregnancy ke dauran mahila ko omega 3 fatty acid aur folik acid Ka Seven Karna chahiey inake Seven se shishu Ka manasik vikas Hota hai aur Yah shishu ki Aankhon aur tantrika tantra ke vikas ke lea bhi aavashyak Hota hai

pregnancy ke dauran pregnant mahila ko aayarn ki bahut aavashykata hoti hai islea pregnant mahila pratidin aayarn Ka Seven Karna chahiey aayarn ke Seven se sharir me himoglobin Ka nirman Hota hai himoglobin sharir ke ango me oksijan pahunchane Ka Kary karta hai samany mahila se pregnant mahila ko dugune aayarn ki aavashykata hoti hai aayarn ki kami se enimiya ho skata hai aur enimiya hone se Samay se Pehle delivery aur kam wajan (Weight) Ka shishu hone ki snbhaonea rahti hai islea aayarn Ka bharpur Seven Karna chahiey
pregnant mahila ko samany mahila se 400 – 500 adhik kailori ki aavashykata hoti hai pregnant mahila ko ek Saath Jyada Khana nahin Khana chahiey balki 2-3 Hour se thodaa-thodaa karke Khana chahieypregnancy ke dauran bina doctor ki salah ke koi bhi dava nahin leni chahiey kyoki ye dWiyan shishu ke lea khatra ban Sakti hai

pregnancy ke dauran kachcha Maas ,kachche ande aur chatpate masalo Ka Seven na kare

pregnancy ke dauran mahila ko dhumrapan aur sharab Ka Seven nahin Karna chahiey inKa Seven shishu ke svasthy par prabhav daalata hai

pregnancy ke dauran mahila ko tanav mupt rahna chahiey kai bar to tanav Garbhpat Ka Karan bhi ban skata hai

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *