प्राचीन मान्यताओं के अनुसार जाने गर्भ में लड़का है या लड़की Prachin manyataon ke anusar jane garbh me ladka hai ya ladki

प्राचीन मान्यताओं के अनुसार जाने गर्भ में लड़का है या लड़की

baby boy in womb
baby boy in womb

सभी माता-पिता जानना चाहते है कि उनका आने वाला  बच्चा बेटा होगा या बेटी, उनकी जिज्ञासा के कई कारण है जैसे बच्चे के नाम के बारे में सोचना ,अपने नन्हे baby के लिए शॉपिंग करना आदि
भारत में लिंग परिक्षण करना क़ानूनी अपराध है
इस विडियो
का उद्देश्य लड़का और लड़की में भेदभाव करना नहीं है बल्कि गर्भवती महिला के मन की जिज्ञासा को शांत करना है कि गर्भ में पल रहा बच्चा बेटा या बिटिया

पुराने समय में मानते थे इन बातों को आधार

गर्भ में लड़का है लड़की इसका निर्णय अत्यंत विचारणीय है  पूरी दुनिया में इस विषय पर अनेक खोज हुयी है परन्तु फिर भी वैज्ञानिक आजतक किसी निश्चित सिद्धांत पर नहीं पहुंच पाये हैं इस महत्वपूर्ण विषय पर प्राचीन काल में ऋषि मुनियों ने भी गहरा विचार किया था आइये जाने प्राचीन तथ्यों के अनुसार कि गर्भ में लड़का है या लड़की।
कैसे जाने कि गर्भ में लड़का है या लड़की

ऋषि मुनियों की खोज के अनुसार

  • यदि गर्भवती महिला का दाहिने स्तन और दाहिनी आंख बाएं स्तन व आँख से ज्यादा भारी लगे तो इसका मतलब गर्भ में लड़का पल रहा है क्योकि लड़का दाहिनी कोख में रहता है इसके आलावा गर्भ में लड़का होने पर गर्भवती महिला की दाहिनी जांघ मोटी हो जाती है और गर्भवती महिला जो भी काम करती है वह दाएँ अंग से ही प्रारंभ करती है चलते समय दाहिना पैर आगे उठा कर चलती है अर्थात दाहिने अंग का उपयोग वह अधिक करती है |
  • यदि गर्भवती महिला को पेट में दूसरे महीने से ही गोल पिंड सा मालूम होने लगता है तो इसका अर्थ कि गर्भ में लड़का है
  • जिन गर्भवती महिलाओ के गर्भ में लड़का होता है उन्हें स्वप्न में पुरुषवाचक चीजें दिखाई देती है जैसे- पानी ,कमल व दीपक आदि
  • यौनक्रिया की इच्छा बिल्कुल नहीं होती, खाने पीने की इच्छा कम होती है, अच्छी अच्छी अलग-अलग व तरह-तरह की चीजे खाने की इच्छा होती है नींद कम आती है चेहरा सुंदर हो जाता है और उसके ठीक विपरीत लक्षण होने पर गर्भ में लड़की होने के चांस ज्यादा होगे
    यह बातें काफी हद तक सही होती है पर पूरी तरह सही नहीं होती है  इसलिए इस जानकारी का यूज़ आप अपने फन के लिए करे बेटा –बेटी में भेदभाव ना करे और अपनी प्रेगनेंसी एन्जॉय करे

  • Prachin manyataon ke anusar jane garbh me ladka hai ya ladki

    sabhi mata-pita Janna chahate hai ki unKa aane vala Baccha beta Hoga ya Beti, unaki jijYasa ke kai Karan hai jaise bachhche ke Name ke bare me sochana ,Apne nadhe baby ke lea shoping Karna aadi
    India me ling parikshan Karna kanuni upradh hai
    is Video Ka uddeshy ladKa aur Ladki me bhedabhav Karna nahin hai balki garbhavti mahila ke man ki jijYasa ko shant Karna hai ki garbh me pal raha Baccha beta ya bitaiya

    purane Samay me manate the in Baaton ko aadhar

    garbh me ladKa hai Ladki isKa nirnay atynt vicharaniy hai puri Duniya me is vishay par anek Khoj huyi hai parntu Phir bhi vaigyanik Aajtak kisi nishchit siddhant par nahin pahunch paaye hain is mahtvapurn vishay par Prachin Kal me rushai muniyon ne bhi gahra vichar kiya tha aaiye jane Prachin tathyon ke anusar ki garbh me ladKa hai ya ladki.
    kaise jane ki garbh me ladKa hai ya ladki

    rushai muniyon ki Khoj ke anusar

    Yadi garbhavti mahila Ka dahine Breast aur dahini aankha baen Breast v aankha se Jyada weighti lage to isKa Matlab garbh me ladKa pal raha hai kyoki ladKa dahini kokha me rahta hai Iske aalava garbh me ladKa hone par garbhavti mahila ki dahini janGh moti ho jati hai aur garbhavti mahila jo bhi Kam karti hai vah daen ang se hi Prarnbh karti hai chalte Samay dahina pair aage uthaa kar chalti hai arthat dahine ang Ka upyog vah adhik karti hai |
    Yadi garbhavti mahila ko Pet me Dusre mahine se hi gol pind sa malum hone lgata hai to isKa arth ki garbh me ladKa hai
    jin garbhavti mahilao ke garbh me ladKa Hota hai unhen svapn me purushavachak chijen dikhai deti hai jaise- paani ,kaml v dipak aadi
    yaunakriya ki ichchha bilkul nahin hoti, Khane pine ki ichchha kam hoti hai, Acchi Acchi alag-alag v tarh-tarh ki chije Khane ki ichchha hoti hai nind kam aati hai chehara Beautifull ho jata hai aur Uske thik viparit lakshan hone par garbh me Ladki hone ke chans Jyada hoge
    Yah Baaten Kafi had tak sahi hoti hai par puri tarh sahi nahin hoti hai islea is janKari Ka Youj aap Apne phan ke lea kare beta –Beti me bhedabhav na kare aur Apni Pregnancy enjoy kare

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *