Placenta (garbh naal) ko dekhakar jan sakte hai ki garbh me ladKa hai Ladki प्लेसेंटा (गर्भ नाल) को देखकर जान सकते है कि गर्भ में लड़का है लड़की

प्लेसेंटा (गर्भ नाल) को देखकर जान सकते है कि गर्भ में लड़का है लड़की

गर्भ में लड़का है या लड़की इसकी पहचान का तरीका अमेरिकन डॉक्टर Ramzi की theory पर आधारित है इस theory को 97% सही माना गया
लिंग परिक्षण करना क़ानूनी अपराध है
इस video का अर्थ लड़का और लड़की में भेदभाव करना नहीं है बल्कि गर्भवती महिला के मन की जिज्ञासा को शांत करना है कि बेटा होगा या बेटी

अमेरिकन डॉक्टर Ramzi ने अपनी theory में बताया है कि गर्भवती महिला की 6 से 10 हफ्ते की अल्ट्रासाउंड रिपोर्ट में गर्भ शिशु की नाल (placenta) की स्थिति को देखकर जान सकते है कि गर्भ में पल रहा शिशु लड़का है या लड़की

गर्भवती महिला और गर्भस्थ शिशु प्लेसेंटा के माध्यम से ही एक-दुसरे से जुड़े रहते है प्लेसेंटा के द्वारा ही शिशु को भोजन मिलता है oxygen और blood circulation भी प्लेसेंटा के माध्यम से होता है ramzi theory के अनुसार यदि आपकी ultrasound रिपोर्ट में शिशु की प्लेसेंटा की स्थिति right side में है तो आप एक बॉय को जन्म देगी और left side में है तो आप एक girl को जन्म देगी

Ultrasound report में प्लेसेंटा की स्थिति को देखने का तरीका
अल्ट्रासाउंड दो तरह किया जाता है
Abdominal
Transvaginal

Abdominal ultrasound में scan mirror image के रूप में होता है इस कारण scan का left, right दिखता और right, left दिखता है इस लिए आप right को left माने और left को right माने

 Transvaginal ultrasound में scan same side में होता है इस कारण इसका right side, right side ही होता है और left side, left side हो होता है

इस theory का उपयोग आप केवल अपने FUN के लिए करे और बेटा बेटी भेदभाव ना करे

Placenta (garbh naal) ko dekhakar jan sakte hai ki garbh me ladKa hai Ladki

garbh me ladKa hai ya Ladki isaki pahchan Ka tariKa amerikan doctor Ramzi ki theory par aadharit hai is theory ko 97% sahi mana gaya
ling parikshan Karna kanuni upradh hai
is video Ka arth ladKa aur Ladki me bhedabhav Karna nahin hai balki garbhavti mahila ke man ki jijYasa ko shant Karna hai ki beta Hoga ya Beti
amerikan doctor Ramzi ne Apni theory me bataya hai ki garbhavti mahila ki 6 se 10 hafte ki ultrasound report me garbh shishu ki nal (placenta) ki sthiti ko dekhakar jan sakte hai ki garbh me pal raha shishu ladKa hai ya Ladki
garbhavti mahila aur garbhasth shishu placenta ke madhyam se hi ek-duSire se jude rahte hai placenta ke Dwara hi shishu ko bhojan milata hai oxygen aur blood circulation bhi placenta ke madhyam se Hota hai ramzi theory ke anusar Yadi Aapki ultrasound riPort me shishu ki placenta ki sthiti right side me hai to aap ek boy ko janm degi aur left side me hai to aap ek girl ko janm degi
Ultrasound report me placenta ki sthiti ko dekhane Ka tariKa
ultrasound do tarh kiya jata hai
Abdominal
Transvaginal
Abdominal ultrasound me scan mirror image ke rup me Hota hai is Karan scan Ka left, right dikhata aur right, left dikhata hai is lea aap right ko left mane aur left ko right mane
Transvaginal ultrasound me scan same side me Hota hai is Karan isKa right side, right side hi Hota hai aur left side, left side ho Hota hai
is theory Ka upyog aap keval Apne FUN ke lea kare aur beta Beti bhedabhav na kare

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *