पीरियड्स में देरी होने के कारण Periods miss hone ke karan

पीरियड्स में देरी होने के कारण

पीरियड्स सही समय पर नहीं आने पर मन में पहला विचार यही आता है कही मै गर्भवती(pregnant) तो नहीं हूँ? क्योकि पीरियड्स रुकना pregnancy का मुख्य लक्षण होता है pregnancy के आलावा भी पीरियड्स समय नहीं आने के कई कारण है
जो लोग baby प्लान कर रहे और उनका पीरियड्स रुक जाता है तो वे तुरंत pregnancy test करते है परन्तु यदि रिजल्ट नेगेटिव आये तो उनके लिए प्रॉब्लम बन जाती है कि इसका क्या कारण है आज हम उसी प्रॉब्लम को दूर करेगे और कुछ ऐसे अन्य कारण बतायेगे जिनकी वजह से पीरियड्स लेट हो जाता है
यदि आप बेबी प्लान कर रहे है और आपका पीरियड्स लेट है तो आप तुरंत प्रेगनेंसी टेस्ट करे यदि रिजल्ट नेगेटिव आये तो फिर आपको 10 दिन तक और इंतजार करना चाहिए क्योकि पीरियड्स में 10 की देरी नार्मल मानी जाती है परन्तु पीरियड्स ज्यादा दिन तक नहीं आये आपको डॉक्टर से जाँच करवानी चाहिए
पीरियड्स समय पर नहीं आने के कारण
1. वजन में अचानक कमी या वृद्धि होने
        यदि किसी महिला का वजन अचानक ज्यादा कम हो जाये या फिर अचानक ज्यादा बढ़ जाये तो पीरियड्स लेट हो सकते है क्योकि शरीर में अचानक हुये बदलाव से दिमाग की ग्रंथि प्रभावित होती है जिससे शरीर की गतिविधियों पर प्रभाव पड़ता है जिन में पीरियड्स लेट होना भी शामिल है
.यदि वजन डाइट की कमी के कारण कम होता तो शरीर में सही मात्रा में एस्ट्रोजन नहीं बन पाता है जिस कारण से गर्भाशय की परत नहीं बन पाती है जिसका सीधा प्रभाव पीरियड्स पर पड़ता है
.जब किसी महिला का वजन ज्यादा बढ़ जाता है तो उसके शरीर में एस्ट्रोजन की मात्रा ज्यादा बढ़ जाती है जिससे शुरू में पीरियड्स के समय ब्लीडिंग ज्यादा होती है और बाद में पीरियड्स देरी से आना शुरू हो जाते है
2. दवाइयों के साइड इफेक्ट्स
        यह भी पीरियड्स नहीं आने के मुख्य कारणों  है  किसी अन्य बीमारी के लिए खाई गयी दवाइयों के शरीर पर बहुत सारे साइड इफेक्ट्स होते है जिन में मुख्य गर्भ निरोधक दवाइयां जो लोग बच्चा नहीं चाहते है वे प्रेगनेंसी को रोकने के लिए birth control pills लेते है इनके आलावा कीमोथेरेपी और एंटी बायोटिक्स भी पीरियड्स पर प्रभाव डालती है
3. ज्यादा व्यायाम व एक्सरसाइज़ 
 व्यायाम और एक्सरसाइज़ हमारे शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद होते है परन्तु जरुरत से ज्यादा व्यायाम व एक्सरसाइज़ भी शरीर पर बुरे प्रभाव डालते है यदि वजन कम करने और फिट बॉडी बनाने के लिए ज्यादा एक्सरसाइज़ करते है तो शरीर में सही मात्रा में एस्ट्रोजन का निर्माण नहीं हो पाता है जिस कारण से पीरियड्स में देरी की समस्या आती है
4. तनाव (टेंसन)
              हमारी लाइफ में सुख दुःख आते रहते है जिस वजह से तनाव होना भी स्वभाविक है पर आप शायद इस बात पर विश्वास ना करे कि तनाव समय पर पीरियड्स नहीं आने का मुख्य कारण है स्ट्रेस का कारण ज्यादा काम ,फॅमिली प्रॉब्लम या अन्य कोई बात हो सकती है तनाव से हमारा दिमाग प्रभावित होता है जिस कारण से दिमाग शरीर की गतिविधियों को सही निधारित नहीं कर पता है और जिससे पीरियड्स में देरी हो सकती है
5. स्तनपान करवाना
       स्तनपान डिलीवरी के बाद पीरियड्स बंद होने का मुख्य कारण है स्तनपान के समय शरीर में दूध बनाने वाला प्रोलैक्टिन हार्मोन ज्यादा स्त्रावित होता है जिस कारण से एस्ट्रोजन का निर्माण नहीं होता है और पीरियड्स मिस हो जाता है
नोट – परन्तु इस समय पीरियड्स नहीं आने पर भी आप pregnant हो सकती है
      6. रजोनिवृत्ति (menopause)
     जब माहवारी स्थायी रूप से बंद हो जाती है तो उसे रजोनिवृत्ति कहते है रजोनिवृत्ति का सही समय 45-50 साल होता है परन्तु कुछ महिलाओ में रजोनिवृत्ति समय से पहले भी हो जाती है जिसे premature menopause कहते है इसका कारण है शरीर में एस्ट्रोजन की मात्रा अनियमित हो जाना ऐसी स्थिति में मासिक चक्र बंद हो जाता है 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *