गर्भवती महिलाये करवा चौथ पर रखे इन बातों का ध्यान garbhavti mahilaye karva chauth par rakhe in Baaton Ka dhyan

गर्भवती महिलाये करवा चौथ पर रखे इन बातों का ध्यान

karva_chauth-vrat
karva_chauth-vrat

हर साल कार्तिक माह की कृष्ण चतुर्थी को करवा चौथ का पर्व मनाया जाता है हर साल इस दिन महिलाये अपने पति की लंबी उम्र और उनकी सलामती के लिए करवा चौथ का व्रत रखती हैं। इस व्रत को करना थोडा मुश्किल होता है,क्योकि इस व्रत में महिलाओं को पूरे दिन बिना अन्न और जल के रहना होता है और रात के समय चांद को देखकर ही व्रत को खोलना जाता है। इस व्रत को रखना कठिन होता है और यदि आप गर्भवती है तो ऐसी स्थिति में आपकी परेशानी और ज्यादा बढ़ जाती है। इसलिए ऐसी अवस्था में डॉक्टर्स की सलाह लेकर ही यह व्रत रखना चाहिए।
डॉक्टर्स के अनुसार यदि गर्भवती महिलाये करवा चौथ का व्रत कर रहीं हैं, तो उन्हें निर्जला व्रत नहीं रखना चाहिए हर दो घंटे के बाद जूस व फलाहार का सेवन कर लेना चाहिए निर्जला व्रत रखने से यह आपके साथ साथ आपके होने वाले बच्चे के लिए भी काफी खतरनाक हो सकता है।

 इन बातों का रखे खास ध्यान –

1.व्रत को शुरू करने से पहले ऐसा आहार ले, जिससे आपको लंबे समय तक भूख ना लगे
2.यदि व्रत के दिन आप कुछ नहीं खाना चाहती है तो तरल पदार्थों का सेवन जरुर करती रहें, जिससे आपके शरीर में पानी की कमी ना हो।
3. व्रत रखने आपके शरीर को एनर्जी नहीं मिल पायेगी इसलिए इस दिन काम बिलकुल ना करें, आप इस दिन अपनी पसंद का कोई कार्य करे और पूरा आराम करें।
4.व्रत खत्म करने के बाद एक साथ ज्यादा खाना-पीना ना करे बल्कि थोडा-थोडा करके खाये पहले हल्का भोजन करे वरना आपको गैस और अपच की समस्या हो सकती है
जो गर्भवती महिलाये मधुमेह और हाइपरटेंशन के रोगी है वे यह व्रत ना करे क्योंकि इससे ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है और गर्भावस्था के आखिरी तीन महीने में व्रत बिल्कुल ना रखें वैसे गर्भवती महिलाओ के लिए व्रत ना रखना ही सही होता है

garbhavti mahilaye karva chauth par rakhe in Baaton Ka dhyan

har sal Kartik month ki Krishn chaturthi ko karva chauth Ka parv manaya jata hai har sal is din mahilaye Apne Pati ki lnbi umr aur unaki salamati ke lea karva chauth Ka vrat rkhati hain. is vrat ko Karna thodaa mushkil Hota hai,kyoki is vrat me mahilaon ko pure din bina ann aur jal ke rahna Hota hai aur rat ke Samay chand ko dekhakar hi vrat ko khaolana jata hai. is vrat ko rkhana kathin Hota hai aur Yadi aap garbhavti hai to aesi sthiti me Aapki Pareshani aur Jyada bdh jati hai. islea aesi avastha me doctors ki salah lekar hi Yah vrat rkhana chahiey.
doctors ke anusar Yadi garbhavti mahilaye karva chauth Ka vrat kar rahin hain, to unhen nirjala vrat nahin rkhana chahiey har do Hour ke bad jus v phalahar Ka Seven kar lena chahiey nirjala vrat rkhane se Yah Aapke Saath Saath Aapke hone vale bachhche ke lea bhi Kafi khatranak ho skata hai.
in Baaton Ka rakhe khas dhyan –
1.vrat ko shuru karne se Pehle Aesa aahar le, Jisse Aapko lnbe Samay tak bhukha na lage
2.Yadi vrat ke din aap kuch nahin Khana chahati hai to tarl padarthon Ka Seven jarur karti rahen, Jisse Aapke sharir me paani ki kami na ho.
3. vrat rkhane Aapke sharir ko enarji nahin mil paayegi islea is din Kam bilakul na karen, aap is din Apni pasnd Ka koi Kary kare aur pura Aaram karen.
4.vrat khatm karne ke bad ek Saath Jyada Khana-pina na kare balki thodaa-thodaa karke khaye Pehle halKa bhojan kare vrana Aapko gas aur upch ki Problem ho Sakti hai
jo garbhavti mahilaye madhumeh aur haipartaenshan ke rogi hai ve Yah vrat na kare kyonki Isse blood pressure bdh skata hai aur garbhavastha ke aakhairi tin mahine me vrat bilkul na rakhen vaise garbhavti mahilao ke lea vrat na rkhana hi sahi Hota hai

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *