गर्भावस्था के दौरान आलू खाने के फायदे और नुकसान चाहिए garbhavastha me aloo khane ke fayde aur nuksan

गर्भवती महिलाओं पर आलू के प्रभाव –

गर्भावस्‍था में खाने को लेकर बहुत ज्यादा सावधानियां बरतीं जाती हैं इसी कारण कई महिलाओं के दिल में आलू को लेकर दुविधा रहती है कि गर्भावस्था के दौरान आलू खाना चाहिए या नहीं। आलू को पोषक तत्वों से समृद्ध माना जाता है
गर्भावस्था के दौरान शिशु को गर्भ में सही विकास के लिए ऊर्जा के मुख्य स्रोत ग्लूकोज की आवश्‍यकता होती है, जो आलू में पाया जाता है। इतना ही नहीं, गर्भावस्था के दौरान आलू कार्बोहाइड्रेट के लिए भी सबसे अच्छा स्रोत है।

आलू में कार्बोहाइड्रेट, फाइबर और विटामिन भरपूर रूप में पाये जाते है। इसके अलावा, आलू में फोलेट नामक पोषक तत्‍व होते है जो आपके होने वाले बच्‍चे के दिमाग के विकास के लिए जरूरी होते है, और ये रीढ़ की समस्याओं को भी कम करता है
आलू को पोषक तत्वों से समृद्ध माना जाता है। आलू में विटामिन बी की काफी उच्च मात्रा पाई जाती है गर्भावस्था के दौरान अन्य पोषक तत्वों के साथ अपने खाने में आलू को भी शामिल करना चाहिए
आलू के नुकसान
खराब या सड़े हुए आलू ना खाएं क्‍योंकि इनसे हमारे शरीर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है। आलू में जहरीले प्रकार सोलानीन होता है। एक शोध के अनुसान प्रत्येक 2 किलो आलू में सोलानीन की लगभग 5200 मिलीग्राम मात्रा शामिल होती हैं। ये आपके होने वाले शिशु को नुकसान पहुंचा सकता है। क्‍योंकि ये आमाशय की बीमारियों को बढ़ावा देता है और कई बार मौत का कारण भी बन सकता है।  इसलिए हमारे सामने सवाल है कि क्या एक गर्भवती महिला को आलू खाना चाहिए है इसका जबाब कि तले हुए आलू में सोलानीन की मात्रा कम होती हैं, इसलिए आप इसे कम मात्रा में खा सकती है। एक बात हमेशा याद रखें गर्भावस्था एक बहुत ही नाजुक समय है। इसलिए ऐसे समय में अपने खाने-पीने के बारे में डॉक्‍टर से सलाह जरूर लें।
नोट – आलू अत्यधिक गैस का कारण है इसलिए डॉक्टर की सलाह जरुर ले
 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *