गर्भावस्था के दौरान सोते समय कौनसी बातों का ध्यान रखना चाहिए garbhavastha ke dauran sote Samay kaunasi Baaton Ka dhyan rakhana chahiey

गर्भावस्था के दौरान सोते समय कौनसी बातों का ध्यान रखना चाहिए

Pregnancy में जितनी जरुरत अच्छे आहार की होती है उतनी जरूरत अच्छी नींद की होती है pregnancy के शुरुआत के दिनों में सोने में कोई प्रॉब्लम नहीं होती है पर जैसे-जैसे पेट का साइज़ बढ़ता है सोने में भी प्रॉब्लम होने लगती है
Pregnancy के दौरान पेट के बल और पीठ के बल ना सोये क्योकि पेट बल सोने से शिशु के स्वास्थ्य पर गलत प्रभाव पड़ता है और पीठ के बल सोने से pregnant महिला को शारीरिक प्रॉब्लम हो सकती है पीठ के बल सोने से गर्भाशय का सारा वजन रीढ़ की हड्डी के निचले हिस्से पर पड़ता है जिसे पीठ दर्द ज्यादा हो सकता है और इससे साँस लेने में तकलीफ व शरीर के रक्त का संचरण ठीक से नहीं हो पाता है जिसे माँ और शिशु दोनों के स्वास्थ्य पर प्रभाव पड़ता है
Pregnancy के दौरान हमेशा गर्भाशय का साइज़ बढ़ने के बाद बाई करवट लेकर ही सोना चाहिए क्योकि बाई करवट लेकर सोने से किडनी और गर्भाशय (uterus) तक रक्त का प्रवाह अच्छे से होता है
pregnancy में बायीं करवट लेकर सोना ज्यादा अच्छा होता है इसलिए ज्यादातर बायीं करवट सोये परन्तु हमेशा एक साइड करवट लेकर ना सोये क्योकि इससे शरीर के एक साइड के हिस्सों पर ज्यादा वजन पड़ता है  जिसकी वजह से आपको एक साइड में दर्द हो सकता है इसलिए कभी-कभी सोने की स्थिति थोड़ी-थोड़ी देर के लिए बदलते रहना चाहिए
 नोट – कई महिलाओं को किसी एक साइड की करवट लेकर सोना ज्यादा आरामदायक लगता है पर हमेशा एक साइड की करवट के साथ बिलकुल ना सोये वरना आपको ऐसा कोई दर्द ठहर सकता है जिसका बाद में इलाज भी मुश्किल हो

garbhavastha ke dauran sote Samay kaunasi Baaton Ka dhyan rakhana chahiey

Pregnancy me jitani jarurat Acche aahar ki hoti hai utani jarurat Acchi nind ki hoti hai pregnancy ke shuruaat ke dino me sone me koi Problem nahin hoti hai par jaise-jaise Pet Ka size bdhta hai sone me bhi Problem hone lgati hai
Pregnancy ke dauran Pet ke bal aur pith ke bal na soye kyoki Pet bal sone se shishu ke svasthy par galt prabhav pdata hai aur pith ke bal sone se pregnant mahila ko sharirik Problem ho Sakti hai pith ke bal sone se garbhashay Ka sara wajan (Weight) ridh ki hadD ke nichale hisse par pdata hai jise pith dard Jyada ho skata hai aur Isse sans lene me tkalif v sharir ke rakt Ka sncharn thik se nahin ho paata hai jise man aur shishu dono ke svasthy par prabhav pdata hai
Pregnancy ke dauran Humesha garbhashay Ka size bdhne ke bad bai karvat lekar hi sona chahiey kyoki bai karvat lekar sone se kidani aur garbhashay (uterus) tak rakt Ka pravah Acche se Hota hai
pregnancy me bayin karvat lekar sona Jyada Accha Hota hai islea Jyadatar bayin karvat soye parntu Humesha ek Side karvat lekar na soye kyoki Isse sharir ke ek Side ke hisson par Jyada wajan (Weight) pdata hai Jiski vjah se Aapko ek Side me dard ho skata hai islea kabhi-kabhi sone ki sthiti thodi-thodi der ke lea Badlte rahna chahiey
nota – kai mahilaon ko kisi ek Side ki karvat lekar sona Jyada Aaramdayak lgata hai par Humesha ek Side ki karvat ke Saath bilakul na soye vrana Aapko Aesa koi dard thahr skata hai jisKa bad me ilaj bhi mushkil ho

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *