गर्भावस्था के दौरान सोते समय कौन सी सावधानियाँ रखनी चाहिए garbhavastha ke dauran sote Samay kaun si savadhaniyan rkhani chahiey

गर्भावस्था के दौरान सोते समय कौन सी सावधानियाँ रखनी चाहिए

गर्भावस्था के दौरान सोते समय ज्यादा सावधानी की जरूरत होती है क्योकि इसका सीधा असर आपके शिशु पर पड़ता है
pregnancy के शुरूआती तीन महीनो में आप चाहे जैसे सो सकती है यदि आपकी pregnancy में किसी प्रकार का कोई complication नहीं है
pregnancy के तीसरे महीने बाद कभी उल्टा (पेट के बल) ना सोये
pregnancy के पांचवे महीने के बाद कभी भी सीधे (पीठ के बल) नहीं सोना चाहिए (वैसे कुछ देर सोने में कोई परेशानी नहीं है पर ज्यादा देर नहीं) क्योकि अगर आप सीधी सोती है तो गर्भाशय (uterus) का साइज़ बढ़ने की वजह से blood circulation सही नहीं हो पाता है
pregnancy की तीसरी तिमाही (6-9) में बहुत सी दिक्कते आना शुरु हो जाती है
जैसे -बार-बार पेशाब जाना ,पैरो में जकड़न, भूख ज्यादा लगना (कभी-कभी रात में भूख लगना) इन सब के कारण आप रात को नींद अच्छी नहीं ले पाती है रात में उठते समय जल्दीबाजी ना करे और अँधेरा हो तो आराम से लाइट on करे
pregnancy की तीसरी तिमाही (6-9) में बहुत सी दिक्कते आना शुरु हो जाती है
जैसे -बार-बार पेशाब जाना ,पैरो में जकड़न, भूख ज्यादा लगना (कभी-कभी रात में भूख लगना) इन सब के कारण आप रात को नींद अच्छी नहीं ले पाती है रात में उठते समय जल्दीबाजी ना करे और अँधेरा हो तो आराम से लाइट on करे
आपको जो भी तरल पदार्थ पीना है वह रात से पहले पीले ताकि आपको रात में बार-बार washroom नहीं जाना पड़े
जब आपका belly size ज्यादा बढ़ जाये तो हमेशा करवट लेकर ही सोये और यदि आपको आरामदायक सोने के लिए तकिये की जरूरत पड़े तो तकिया लगा सकती है
pregnancy में बायीं करवट लेकर सोना ज्यादा अच्छा होता है इसलिए ज्यादातर बायीं करवट सोये परन्तु हमेशा एक साइड करवट लेकर ना सोये क्योकि इससे एक साइड के कंधे और पैरो पर load ज्यादा पड़ेगा और यह दर्द का कारण बन सकता है इसलिए सुविधानुसार करवट लेकर सोये
नोट – कई महिलाओं को किसी एक साइड की करवट लेकर सोना ज्यादा आरामदायक लगता है पर हमेशा एक साइड की करवट के साथ बिलकुल ना सोये वरना आपको ऐसा कोई दर्द ठहर सकता है जिसका बाद में इलाज भी मुश्किल हो
जब आप सोकर उठे तो करवट लेकर अपने हाथो का सहारा लेकर ही उठे कभी भी झटके से उठने की कोशिश ना करे

garbhavastha ke dauran sote Samay kaun si savadhaniya rakhani chahiey

garbhavastha ke dauran sote Samay Jyada savadhani ki jarurat hoti hai kyoki iska sidha Asar Aapke shishu par padata hai
pregnancy ke shuruaati tin mahino me aap chahe jaise so Sakti hai Yadi Aapki pregnancy me kisi prKar Ka koi complication nahin hai
pregnancy ke tisre mahine bad kabhi ulta (Pet ke bal) na soye
pregnancy ke paanchave mahine ke bad kabhi bhi sidhe (pith ke bal) nahin sona chahiey (vaise kuch der sone me koi Pareshani nahin hai par Jyada der nahin) kyoki agar aap sidhi soti hai to garbhashay (uterus) Ka size bdhne ki vjah se blood circulation sahi nahin ho paata hai
pregnancy ki ttisri timahi (6-9) me bahut si dikkate aana shuru ho jati hai
jaise -bar-bar peshab jana ,pairo me jkadn, bhukha Jyada lgana (kabhi-kabhi rat me bhukha lgana) in sab ke Karan aap rat ko nind Acchi nahin le paati hai rat me uthate Samay jaldibaji na kare aur andhera ho to Aaram se laita on kare
pregnancy ki tiSiri timonthi (6-9) me bahut si dikkate aana shuru ho jati hai
jaise -bar-bar peshab jana ,pairo me jkadn, bhukha Jyada lgana (kabhi-kabhi rat me bhukha lgana) in sab ke Karan aap rat ko nind Acchi nahin le paati hai rat me uthate Samay jaldibaji na kare aur andhera ho to Aaram se laita on kare
Aapko jo bhi tarl padarth pina hai vah rat se Pehle pile taki Aapko rat me bar-bar washroom nahin jana pade
jab aapKa belly size Jyada bdh jaye to Humesha karvat lekar hi soye aur Yadi Aapko Aaramdayak sone ke lea takiye ki jarurat pade to takiya laga Sakti hai
pregnancy me bayin karvat lekar sona Jyada Accha Hota hai islea Jyadatar bayin karvat soye parntu Humesha ek Side karvat lekar na soye kyoki Isse ek Side ke Shoulders(kandhe) aur pairo par load Jyada padega aur Yah dard Ka Karan ban skata hai islea suvidhanusar karvat lekar soye
nota – kai mahilaon ko kisi ek Side ki karvat lekar sona Jyada Aaramdayak lgata hai par Humesha ek Side ki karvat ke Saath bilakul na soye vrana Aapko Aesa koi dard thahr skata hai jisKa bad me ilaj bhi mushkil ho
jab aap sokar uthe to karvat lekar Apne hatho Ka sahara lekar hi uthe kabhi bhi jhatke se uthane ki Try na kare

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *