गर्भधारण का सही समय व सही दिन कोनसा है garbhadharan Ka sahi Samay & sahi din konasa hai

गर्भधारण का सही समय व सही दिन कोनसा है

माँ बनना हर महिला के लिए बहुत सुखद अहसास होता है हर महिला चाहती है कि उसका एक स्वस्थ और सुन्दर बच्चा हो वैसे माँ बनना बहुत ज्यादा जटिल प्रकिया नहीं है परन्तु गर्भवती होने का भी एक निश्चित समय होता है इसी कारण कुछ महिलाये माँ बनना चाहती है पर बिना किसी प्रॉब्लम के भी माँ नहीं बन पाती है इसका कारण है कि वे सही समय पर कोशिश नहीं कर पाती है आइये जाने प्रेग्नेंट होने का सही समय

right time for pregnancy
right time for pregnancy

गर्भधारण का सही समय महिला मासिक चक्र के अनुसार होता है जैसे किसी महिला का मासिक चक्र 28 दिन का है तो उसका ओव्युलेशन आधे समय बाद 14वे दिन होगा जैसे
मासिक चक्र 26 दिन का तो ओव्युलेशन पीरियड्स आने के 13 वे दिन
मासिक चक्र 28 दिन का तो ओव्युलेशन पीरियड्स आने के 14 वे दिन
मासिक चक्र 30 दिन का तो ओव्युलेशन पीरियड्स आने के 15 वे दिन
यदि आपका मासिक चक्र 28 दिन का है तो आधे समय बाद यानि 14 वे दिन आपके अंडाशय से एक अंडा निकलता है अंडे निकलने की प्रक्रिया को ही ओव्युलेशन कहते है इस कारण 14 वा दिन आपके ओव्युलेशन का  दिन है यह अंडा निकलने के बाद फैलोपियन ट्यूब के माध्यम से पुरे गर्भाशय में घूमता है फैलोपियन ट्यूब में यह 24 घंटे रहता है और शुक्राणु का इंतजार करता है यदि इस समय अंडाणु और शुक्राणु का संयोग होता है तो महिला प्रेग्नेंट हो जाती है परन्तु यदि 24 घंटे में इस अंडे का शुक्राणु से संयोग नहीं होता है तो यह नष्ट हो जाता है और फिर मासिक चक्र के रक्तस्त्राव के साथ बाहर निकल जाता है
यदि शुक्राणु अंडे का संयोग कर लेता है तो निषेचित अंडा फैलोपियन ट्यूब के माध्यम से गर्भाशय में चला जाता है और बहुत सी कोशिकाओ में विभाजित हो जाता है इन कोशिकाओ का गोलाकार गुच्छा भ्रूण के रूप में विकसित होने लगता है पहला महिना पूरा होने पर इसका आकार खसखस के बीज के बराबर होता है
इस समय गर्भवती महिला को फोलिक एसिड का सेवन करना चाहिए क्योकि फोलिक एसिड भ्रूण को विकृतियों से बचाता है

garbhadharan Ka sahi Samay aur sahi din konasa hai

maa Banna har mahila ke lea bahut sukhad ahasas Hota hai har mahila chahati hai ki usKa ek Swasth aur sundar Baccha ho vaise man Banna bahut Jyada jatil prkiya nahin hai parntu garbhavti hone Ka bhi ek nishchit Samay Hota hai isi Karan kuch mahilaye man Banna chahati hai par bina kisi Problem ke bhi man nahin ban paati hai isKa Karan hai ki ve sahi Samay par Try nahin kar paati hai aaiye jane pregnenta hone Ka sahi Samay
garbhadharan Ka sahi Samay mahila masik chakr ke anusar Hota hai jaise kisi mahila Ka masik chakr 28 din Ka hai to usKa ovyuleshan aadhe Samay bad 14ve din Hoga jaise
masik chakr 26 din Ka to ovyuleshan piriyads aane ke 13 ve din
masik chakr 28 din Ka to ovyuleshan piriyads aane ke 14 ve din
masik chakr 30 din Ka to ovyuleshan piriyads aane ke 15 ve din
Yadi aapKa masik chakr 28 din Ka hai to aadhe Samay bad yani 14 ve din Aapke andaashay se ek andaa nikalta hai ande nikalne ki prakriya ko hi ovyuleshan kahte hai is Karan 14 va din Aapke ovyuleshan Ka din hai Yah andaa nikalne ke bad failopiyan taYoub ke madhyam se pure garbhashay me Ghumata hai failopiyan taYoub me Yah 24 Hour rahta hai aur Shukranu Ka intajar karta hai Yadi is Samay andaanu aur Shukranu Ka snyog Hota hai to mahila pregnenta ho jati hai parntu Yadi 24 Hour me is ande Ka Shukranu se snyog nahin Hota hai to Yah nasta ho jata hai aur Phir masik chakr ke raktastrav ke Saath bahar nikal jata hai
Yadi Shukranu ande Ka snyog kar leta hai to nishaechit andaa failopiyan taYoub ke madhyam se garbhashay me chala jata hai aur bahut si koshiKao me vibhajit ho jata hai in koshiKao Ka golaKar guchchha bhrun ke rup me vikasit hone lgata hai pahla mahina pura hone par isKa aaKar khaskhas ke bij ke barabar Hota hai
is Samay garbhavti mahila ko folik Sid Ka Seven Karna chahiey kyoki folik Sid bhrun ko vikrtiyon se bachhata hai

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *