गर्भ में शिशु अपना सिर नीचे कब करता है garbh me shishu Apna sir niche kab karta hai

गर्भ में शिशु अपना सिर नीचे कब करता है

गर्भावस्था के दौरान शिशु amniotic fluid के अन्दर इधर-उधर घूमता रहता है इसके अन्दर शिशु अजब-गजब क्रियाए करता रहता है जब शिशु ज्यादा उछल-कूद करता है तो किक महसूस होता है गर्भ में शिशु का हलचल करना शिशु के सही स्वास्थ्य का प्रतिक माना जाता है
ज्यादातर शिशु गर्भावस्था के लास्ट में अपना सिर नीचे कर लेते है सिर नीचे करने का कोई निश्चित समय नहीं है पर 8-9 वे महीने में शिशु अपना सिर नीचे कर लेते है
यदि आप पहली बार माँ बन रही है तो आपका शिशु 8 वे महीने में ही अपना सिर नीचे करने के ज्यादा चांस है क्योकि पहली बार माँ बनने पर गर्भाशय की मांसपेशिया मजबूत होती है जिससे शिशु को सिर नीचा करने में सपोर्ट मिलता है
यदि आपका दूसरा या तीसरा बच्चा है तो आपका शिशु 9 वे महीने में अपना सिर नीचे कर सकता है क्योकि एक बार माँ बनने के बाद गर्भाशय की मांसपेशिया कमजोर हो जाती है जिससे शिशु को सिर नीचा करने ने में सपोर्ट कम मिलता है इस कारण 9 वे महीने सिर नीचा करने के ज्यादा चांस रहते है
पोस्टीरियर अवस्था – इस अवस्था में शिशु का सिर नीचे की ओर ही होता है परन्तु शिशु के सिर का पिछला सिरा रीढ़ की हड्डी की तरफ होता है इस अवस्था में शिशु का जन्म नार्मल delivery से ही होता है पर इस स्थिति में delivery थोड़ी मुश्किल से होती है
कुछ शिशु अपना सिर नीचे नहीं कर पाते है यानि birthing process के लिए भी तैयार नहीं हो पाते है इनका सिर ऊपर और पैर नीचे की तरफ होते है इसे BREECH POSITION कहते है इसका कारण शिशु का कमजोर होना या शिशु की माँ(गर्भवती महिला) का इसी स्थिति से जन्म होना last तक शिशु की स्थिति सही नहीं होने पर सिजेरियन delivery की जाती है

garbh me shishu Apna sir niche kab karta hai

garbhavastha ke dauran shishu amniotic fluid ke andar idhar-udhar Ghumata rahta hai Iske andar shishu ajab-gajb kriyae karta rahta hai jab shishu Jyada uchhal-kud karta hai to kik mahsus Hota hai garbh me shishu Ka halchal Karna shishu ke sahi svasthy Ka pratik mana jata hai
Jyadatar shishu garbhavastha ke lasta me Apna sir niche kar lete hai sir niche karne Ka koi nishchit Samay nahin hai par 8-9 ve mahine me shishu Apna sir niche kar lete hai
Yadi aap pahli bar man ban rahi hai to aapKa shishu 8 ve mahine me hi Apna sir niche karne ke Jyada chans hai kyoki pahli bar man Banne par garbhashay ki Maasapeshiya mjabut hoti hai Jisse shishu ko sir nicha karne me sPort milata hai
Yadi aapKa Dusra ya tiSira Baccha hai to aapKa shishu 9 ve mahine me Apna sir niche kar skata hai kyoki ek bar man Banne ke bad garbhashay ki Maasapeshiya kamjor ho jati hai Jisse shishu ko sir nicha karne ne me sPort kam milata hai is Karan 9 ve mahine sir nicha karne ke Jyada chans rahte hai
postiRear avastha – is avastha me shishu Ka sir niche ki or hi Hota hai parntu shishu ke sir Ka pichhala sira ridh ki hadD ki tarf Hota hai is avastha me shishu Ka janm narmal delivery se hi Hota hai par is sthiti me delivery thodi mushkil se hoti hai
kuch shishu Apna sir niche nahin kar paate hai yani birthing process ke lea bhi taiyar nahin ho paate hai inKa sir upar aur pair niche ki tarf hote hai ise BREECH POSITION kahte hai isKa Karan shishu Ka kamjor Hona ya shishu ki man(garbhavti mahila) Ka isi sthiti se janm Hona last tak shishu ki sthiti sahi nahin hone par sijeriyan delivery ki jati hai
 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *