डिलीवरी के दौरान होने वाले दर्द को कम करने के उपाय :-delivery ke dauran hone vale dard ko kam karne ke upaay

डिलीवरी के दौरान होने वाले दर्द को कम करने के उपाय :-

डिलीवरी के समय महिला को असहनीय दर्द का सामना करना पड़ता है इस दर्द से छुटकारा नहीं पाया जा सकता है परन्तु इसे कुछ उपायों से कम किया जा सकता है

प्रसव के दौरान दर्द होना स्वभाविक माना जाता है इसलिए इस दर्द को दूर करने के लिए डॉक्टर की सलाह के बिना कोई दवा नहीं लेनी चाहिए प्रसव के दौरान होने वाला दर्द 4-5 मिनट में एक बार होता है यह दर्द प्रसव के होने का संकेत होता है

महिला को प्रसव के दौरान होने वाले दर्द से भयभीत नहीं होना चाहिए और अपनी सोच को सकारात्मक रखनी चाहिए प्रसव के दर्द को कम करने के लिए महिला को अपने गर्भाशय की मांसपेशियों को ढीला छोड़ देना चाहिए क्योकि गर्भाशय की मांसपेशियों को दबाकर रखने से डिलीवरी में रूकावट आती है

प्रसव का दर्द जितना ज्यादा और शीघ्रता होगा प्रसव उतना जल्दी होगा कई बार गर्भाशय की मांसपेशिया सही तरीके से काम नहीं करती है इसकारण प्रसव के दौरान दर्द ज्यादा होता है प्रसव पीड़ा से भयभीत होने पर महिला के शरीर में ओक्सीजन कमी आ सकती है जिसे प्रसव ओपरेशन से भी करना पड़ सकता है और यदि प्रसव पीड़ा को सहजता ले तो डिलीवरी जल्दी और आसानी से होती है

प्रसव पीड़ा को कम करने के उपाय :-

-प्रसव पीड़ा में महिला को धीरे धीरे टहलना अच्छा होता है

प्रसव के दर्द से राहत पाने के लिए महिला को दिवार के सहारे खड़ी होकर हाथों को सीधे करने चाहिए

प्रसव पीड़ा के दौरान महिला घुटनों को मोड़कर कुर्सी पर बैठ सकती है या पैरो खोलकर बैठ सकती है

प्रसव पीड़ा में व्रजासन में बैठना फायदेमंद होता है

प्रसव पीड़ा के दौरान मांसपेशियों को ढीला छोड़ देना चाहिए

लम्बी लम्बी साँसे लेकर छोड़नी चाहिए

प्रसव पीड़ा के दौरान महिला को अपना पेट हल्के हाथों से नीचे तरफ दबाना चाहिए और नाभि के पास जाकर छोड़ देना चाहिए

प्रसव पीड़ा के दौरान पैरो और घुटनों की मालिश करनी चाहिए

प्रसव के समय कमर दर्द में होता है इस लिए कमर की माशिस करनी चाहिए और कमर को हल्के हाथों से दबाना चाहिए

प्रसव पीड़ा एक प्राकृतिक पीड़ा है स्त्री इस असहनीय पीड़ा को सहन करके एक बच्चे को जन्म देती है जिसको दूर नहीं किया जा सकता है परन्तु कुछ उपायों से कम किया जा सकता है

delivery ke dauran hone vale dard ko kam karne ke upaay :-

delivery ke Samay mahila ko asahaniy dard Ka samana Karna pdata hai is dard se chhutaKara nahin paaya ja skata hai parntu ise kuch upaayon se kam kiya ja skata hai

prasav ke dauran dard Hona svabhavik mana jata hai islea is dard ko dur karne ke lea doctor ki salah ke bina koi dava nahin leni chahiey prasv ke dauran hone vala dard 4-5 Minute me ek bar Hota hai Yah dard prasav ke hone Ka snkaet Hota hai
mahila ko prasav ke dauran hone vale dard se bhaybhit nahin Hona chahiey aur Apni soch ko sKaratmak rakhani chahiey prasav ke dard ko kam karne ke lea mahila ko Apne garbhashay ki Maasapeshiyon ko dhila chhod dena chahiey kyoki garbhashay ki Maasapeshiyon ko dabakar rkhane se delivery me ruKavat aati hai
prasav Ka dard jitana Jyada aur shighrta Hoga prasav utana jaldi Hoga kai bar garbhashay ki Maasapeshiya sahi tarike se Kam nahin karti hai isKaran prasv ke dauran dard Jyada Hota hai prasv pida se bhaybhit hone par mahila ke sharir me oksijan kami aa Sakti hai jise prasav opration se bhi Karna pad skata hai aur Yadi prasv pida ko sahjata le to delivery jaldi aur aasani se hoti hai
prasav pida ko kam karne ke upaay :-
-prasav pida me mahila ko dhire dhire tahlana Accha Hota hai
prasav ke dard se rahat paane ke lea mahila ko divar ke sahare khadi hokar hathon ko sidhe karne chahiey
prasav pida ke dauran mahila Ghutanon ko modkar kursi par baith Sakti hai ya pairo khaolkar baith Sakti hai
prasav pida me vrajasan me baithana fayademnd Hota hai
prasav pida ke dauran Maasapeshiyon ko dhila chhod dena chahiey
lambi lambi sanse lekar chhodani chahiey
prasav pida ke dauran mahila ko Apna Pet halke hathon se niche tarf dabana chahiey aur nabhi ke pass jakar chhod dena chahiey
prasav pida ke dauran pairo aur Ghutanon ki malish karni chahiey
prasav ke Samay kamr dard me Hota hai is lea kamr ki mashis karni chahiey aur kamr ko halke hathon se dabana chahiey
prasav pida ek Prakrtik pida hai stri is asahaniy pida ko sahn karke ek bachhche ko janm deti hai jisako dur nahin kiya ja skata hai parntu kuch upaayon se kam kiya ja skata hai

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *